उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

छात्र का शव मिलने के बाद परिजनों ने किया कोतवाली का घेराव कर हाईवे जाम
Uttarakhand Herald

रुडक़ी।  रुडक़ी के आसफनगर झाल से छात्र का शव बरामद होने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को लेकर गंगनहर कोतवाली का घेराव करने पहुंच गए। पुलिस ने मौके पर किसी तरह परिजनों को समझा-बुझाकर भेजा, लेकिन परिजनों का गुस्सा शांत नहीं हुआ। दोपहर के वक्त परिजन अन्य लोगों के साथ ईदगाह चौक पहुंच गए और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर हाईवे जाम कर दिया। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को मनाने में जुट गई।

     बीती 15 सितंबर को इंदिरा विहार कॉलोनी ईदगाह चौक सुनहरा रोड निवासी 16 वर्षीय आठवीं कक्षा का छात्र बाइक लेकर घर से निकला था। परिजनों को बताया था कि वह स्कूल जा रहा है जो काशीपुर में है। लेकिन छात्र देर शाम तक भी घर नहीं लौटा था। चिंता होने पर परिजनों ने पुत्र की तलाश शुरू कर दी थी। जिसके बाद तहरीर देकर अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। तब से परिजन और पुलिस छात्र की तलाश कर थी।

      इस बीच मामले में उस वक्त नया मोड़ आ गया जब परिजनों ने पुत्र की हत्या का आरोप दोस्तों पर लगाया। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और दोस्तों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। दोस्तों ने पूछताछ में बताया था कि संतुलन बिगडऩे से उनका दोस्त मेहवड़ पुल के पास गंगनहर में गिर कर डूब गया था। जिसके बाद वह सब घबराकर बिना किसी को कोई जानकारी दिए वापस घर चले गए थे। रविवार को आसफनगर झाल से पुलिस ने छात्र का शव बरामद किया। जानकारी परिजनों को लगी तो आसफनगर झाल पर काफी भीड़ एकत्र हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए छात्र के शव को मोर्चरी भेज दिया। जिसके बाद पोस्टमार्टम के बाद गुस्से से बौखलाए परिजन शव को लेकर गंगनहर कोतवाली पहुंच गए और घेराव शुरू कर दिया।

    हालांकि पुलिस ने उस वक्त परिजनों को किसी तरह समझा-बुझाकर वापस भेज दिया था। लेकिन करीब तीन बजे के आसपास परिजन फिर से आग बबूला हो गए और ईदगाह चौक पहुंच गए। परिजनों ने पुत्र के दोस्तों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर हाईवे जाम कर दिया। इस बीच आसपास के इलाकों में अफरा तफरी मच गई। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने गुस्साए परिजनों को शांत कराने का प्रयास शुरू कर दिया।

      गंगनहर कोतवाली इंस्पेक्टर प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि परिवार के लोगों को समझा-बुझाकर जाम खुलवा दिया गया था। तहरीर के आधार पर मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

Share this story