उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

स्टोन क्रशर विवाद में जमकर चलीं गोलियां, एक की मौत, तीन घायल
Herald

काशीपुर। बाजपुर के पिपलिया गांव में मंगलवार की रात 12:30 बजे स्टोन क्रशर के विवाद में दो पक्षों में गोलीबारी हो गई। करीब 50 राउंड हुई फायरिंग में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव के निजी अंगरक्षक की गोली लगने से मौत हो गई, जबकि ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख समेत तीन अन्य लोग घायल हो गए। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर 22 खोखे बरामद किए हैं। गांव में एहतियातन पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। दोनों पक्षों की ओर से पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं।बाजपुर के गांव पिपलिया निवासी नेत्र प्रकाश शर्मा एवं गांव खंबारी में निवासी ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख तेजेंद्र सिंह जंटू के बीच स्टोन क्रशर के 1.80 करोड़ रुपये को लेकर विवाद चल रहा था। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव अविनाश शर्मा निवासी गांव केशोवाला, तेजेंद्र सिंह पक्ष से मध्यस्थता का प्रयास कर रहे थे। मंगलवार शाम को विवाद को लेकर दोनों पक्षों में पंचायत भी हुई थी, लेकिन पंचायत में बात नहीं बनी और दोनों पक्ष लौट गए।

       बताया जा रहा है इसी बीच रात में नेत्र प्रकाश और तेजेंद्र सिंह की मोबाइल फोन पर बात हुई। फोन पर बात होने के बाद दोनों में गहमागहमी हो गई। इसके बाद रात करीब साढ़े बारह बजे ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख तेजेंद्र सिंह जंटू पक्ष के लोग नेत्र प्रकाश के घर पहुंच गए।  इससे दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए और दोनों पक्षों की ओर से अचानक ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। इससे गांव के लोग सहम गए। काफी देर तक हुई फायरिंग में तेजेंद्र पक्ष के चार लोग जख्मी हो गए। कांग्रेस नेता के निजी अंगरक्षक मिलक खानम जिला रामपुर (यूपी) निवासी कुलवंत सिंह (30) की गोली लगने से मौत हो गई। जबकि ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख के साथ हैप्पी और मोहित घायल हो गए। वहीं गोलियों की आवाज से गांव के लोग दहशत में आ गए और किसी ने बाजपुर पुलिस को सूचना दी। कुछ ही देर बाद कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई।  पुलिस को मौके पर कारतूसों के 22 खोखे बरामद किए हैं। गांव में एहतियात के तौर पर फोर्स को तैनात कर दिया गया। पुलिस ने इस मामले में नेत्र प्रकाश की तहरीर पर कांग्रेस नेता अविनाश शर्मा तथा तेजेंद्र सिंह जंटू की तहरीर पर नेत्र प्रकाश शर्मा, दर्पण शर्मा, रविंद्र शर्मा, अनिरुद्ध शर्मा के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है।

      एक-दूसरे पर आरोप:  नेत्र प्रकाश शर्मा पक्ष का आरोप है कि ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख तेजेंद्र सिंह जंटू के दर्जन से अधिक हथियारबंद लोग उसके घर पहुंचे। ताबड़तोड़ गोलियां चलाने लगे और घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता की। घर में रखे करीब सात लाख रुपये के गहने और नगदी लूट कर ले गए। उधर, दूसरे पक्ष के ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख ने आरोप लगाया कि 1.80 करोड़ रुपये की लेनदारी का विवाद चल रहा था।
नेत्र प्रकाश शर्मा ने मंगलवार रात इस रकम का चेक लेने के लिए बुलाया था। जब वह पहुंचे तो उन्होंने दोनों तरफ से घेरकर फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें उनके साथी कुलवंत की गोली लगने से मौत हो गई। जबकि ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख तेजेंद्र सिंह जंटू तथा हैप्पी भी छर्रे लगने से घायल हो गए और मोहित को भी चोटें आई हैं।

      चंद्रमोहन सिंह, एएसपी, काशीपुर ने बताया कि दोनों पक्षों की ओर से तहरीर मिली प्राप्त है। दोनों पक्षों के लोगों पर संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। घटनास्थल पर कुछ खोखे भी पुलिस ने बरामद किए हैं। फिलहाल अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमों को लगाया गया है।

Share this story