उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

एम्स ऋषिकेश ने शुरू की टेली आईसीयू सेवाएं
Uttarakhand Herald

 ऋषिकेश।  अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश ने कोविड-19 महामारी के दौरान गंभीर रूप से बीमार रोगियों की उचित देखभाल के लिए अपनी आईसीयू सेवाओं का विस्तारीकरण कर अस्पताल में 200 से अधिक आईसीयू बेड तैयार किए हैं।

     एम्स ऋषिकेश ने बड़ी संख्या में गंभीर रूप से आईसीयू में भर्ती बीमार रोगियों के लिए भारत में पहली बार टेली-आईसीयू सेवा प्रारंभ की है। इसके लिए संस्थान ने किंग्स कॉलेज, लंदन (केसीएल) के साथ एमओयू किया है। सेवा से एम्स के चिकित्सक एक साथ कई वर्चुअल आईसीयू चला सकते हैं। इस सुविधा से ई-आईसीयू और अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों के साथ संवाद भी स्थापित कर सकते हैं।

     संस्थान में टेली-आईसीयू सेवाओं का उद्घाटन करते हुए एम्स ऋषिकेश के निदेशक और सीईओ पद्मश्री प्रोफेसर रविकांत ने कहा कि कोविड रोगियों का समुचित इलाज और उनकी देखभाल हमारी सर्चोच्च प्राथमिकता है। कहा कि कोविडकाल में कोविड ग्रसित मरीजों के उपचार में संस्थान के सभी डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मचारी अथकरूप से प्रयासरत हैं। लिहाजा मरीजों की स्वास्थ्य सुविधा को ध्यान में रखते हुए अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञता और सहयोग के लिए इस प्रस्ताव का स्वागत है। बीते 3 वर्षों में ऐसे कई अंतर्राष्ट्रीय सहयोग विकसित किए हैं।

   उन्होंने बताया कि संस्थान में दूरदराज के क्षेत्रों में पहुंच के बिना गरीब रोगियों की स्वास्थ्य संबंधी मदद करने के लिए ऐसी नई तकनीकों को विकसित करने के लिए डीन ऑफ इनोवेशन भी बनाया गया है।

    इस अवसर पर किंग्स कॉलेज लंदन में सर्जरी के प्रोफेसर प्रोकर दास गुप्ता, डीन अस्पताल प्रशासन प्रोफेसर यूबी मिश्रा, डीन (अंतर्राष्ट्रीय मामले) प्रो. सोमप्रकाश बसु, डीन अनुसंधान प्रो. वर्तिका सक्सेना के अलावा किंग्स कॉलेज लंदन से प्रो. लुईस रोज, डॉ. जोएल मेयर, मिस्टर जोसेफ केसी, ऐटोनिक्स कनाडा से मिस्टर मिशेल पैक्वेट, ब्रिटिश कंम्यूनिकेशन इंडिया के हितेश पांड्या आदि मौजूद थे।

Share this story