उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

रानी पोखरी में जाखन नदी पर बना वैकल्पिक मार्ग बहा, ट्रैफिक डायवर्ट
रानी पोखरी में जाखन नदी पर बना वैकल्पिक मार्ग बहा, ट्रैफिक डायवर्ट

ऋषिकेश। प्रदेश में लगातार हो रही बारिश मुसीबत बनी हुई है। बरसाती पानी के तेज बहाव से रानीपोखरी में जाखन नदी पर बनाया गया वैकल्पिक मार्ग बाढ़ में बह गया है। जिससे ऋषिकेश से डोईवाला के बीच आवाजाही फिर बाधित हो गई। 27 अगस्त को पुल टूटने के बाद लोक निर्माण विभाग की ओर से यहां वैकल्पिक मार्ग शुरू किया गया था। जिस पर बीती रविवार से यातायात प्रारंभ कर दिया गया था। वर्तमान में ऋषिकेश और देहरादून के बीच सिर्फ नेपालीफार्म और भानियावाला के जरिये सडक़ संपर्क बना है। 

    सहायक अभियंता आरसी कैलखुरा ने बताया कि पर्वतीय क्षेत्र में हो रही बारिश के कारण जाखन नदी में अचानक पानी भर गया। सूचना पाकर टीम को मौके पर भेजा गया है। वैकल्पिक मार्ग का करीब 300 मीटर हिस्सा नदी के ऊपर नया बनाया गया था। जिसमें लगभग पूरा ही वैकल्पिक मार्ग नदी के ऊपरी क्षेत्र से बाढ़ में बह गया है। यहां वैकल्पिक मार्ग का अभी आरबीएम से आधार बनाया गया था। इस मार्ग का डामरीकरण कुछ दिनों में होना था। उन्होंने बताया कि उच्च अधिकारियों को इसकी सूचना दे दी गई है। मौके पर ही विभाग के कर्मचारियों और लेबर देहरादून ऋषिकेश की दिशा से आने वाले वाहन चालकों को वापस लौट आ रहे हैं। 

   रानी पोखरी के थानाध्यक्ष जितेंद्र चौहान ने बताया कि थाने के बैरियर के समीप वाहन चालकों को लौटाया जा रहा है। भोगपुर थाना वैकल्पिक मार्ग में विदालना नदी में भी पानी आ गया है। इस कारण इस वैकल्पिक मार्ग पर भी फिलहाल यातायात रोक दिया गया है। यही स्थिति घमंडपुर वैकल्पिक की मार्ग की भी है।

   मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग देहरादून एनपी सिंह मौके पर पहुंचे। प्रमुख अभियंता लोक निर्माण विभाग हरिओम शर्मा ने बताया कि नदी में अत्यधिक पानी आने से वैकल्पिक मार्ग का कुछ हिस्सा बह गया है। मुख्य अभियंता देहरादून को हालात का जायजा लेने के लिए मौके पर भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि नदी के ऊपर करीब 250 मीटर लंबा वैकल्पिक मार्ग बनाया गया था। जौलीग्रांट वाली दिशा में वैकल्पिक मार्ग को कम क्षति पहुंची है। बीच के हिस्से में नुकसान हुआ है। वैकल्पिक मार्ग को फिर से तैयार करने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि बुधवार तक इस मार्ग को यातायात के लिए तैयार कर दिया जाएगा। नदी में पानी काफी घट गया है।

Share this story