उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

लाइसेंस के जरिए होगी जिले में भांग की खेती
लाइसेंस के जरिए होगी जिले में भांग की खेती 

बागेश्वर। नशा रहित भांग की खेती के लिए जिला प्रशासन ने मनकोट और छाती गांव का चयन किया है। मंगलवार को डीएम विनीत कुमार गांव पहुंचे और कृषक राजेश चौबे के खेत में भांग का बीज रोपित किया। उन्होंने कहा हैंप उत्पादन किसानों की आय बढ़ेगी और वह आत्मनिर्भर बनेंगे। जिला प्रशासन ने हैंप उत्पादन प्रोजेक्ट बनाया था। जिसके तहत भांग के बीज की बुवाई कर उसे शुरू कर दिया है।

    जिलाधिकारी ने कहा किसानों की आर्थिकी मजबूत करने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। भांग की खेती अब जिले में लाइसेंस के जरिए होगी। गांव के अन्य किसान भी लाइसेंस के लिए जिला आबकारी विभाग में आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने कहा भांग उत्पादन के लिए पॉलीहाउस का प्रयोग किया जा रहा है। हैंप से रोटी, कपड़ा और मकान तीनों मिल सकता है। इसके अलावा लगभग पांच हजार प्रोडेक्ट भी तैयार किए जाते हैं। किसानों को विपणन की कोई परेशानी नहीं होगी। वर्तमान में 20 नाली भूमि में भांग की खेती को आवेदन आए हैं। एक हेक्टेयर तक पायलट प्रोजेक्ट तैयार किया है।

   यहां मुख्य कृषि अधिकारी वीपी मौर्या, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, तहसीलदार दीपिका आर्य, सहायक विकास अधिकारी उद्योग पंकज तिवारी, कृषक दिनेश पांडे रहे।

Share this story