उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

सोशल वर्कर की विज्ञप्ति में संशोधन की मांग की
Uttarakhand Herald

श्रीनगर गढ़वाल। उत्तराखंड चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड द्वारा प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में सोशल वर्कर के रिक्त पदों के लिए विज्ञप्ति जारी की गई, किंतु विज्ञप्ति में सोशल वर्कर के पदों के लिए शैक्षिक अर्हता में केवल एमएसडब्ल्यू में स्नातकोत्तर उपाधि दी गई, किंतु समाजशास्त्र को विज्ञप्ति में शैक्षिक अर्हता में नहीं रखा गया है। जिससे समाजशास्त्र से पीजी करने वाले युवाओं ने सरकार से उक्त विज्ञप्ति में संसोधन कर समाजशास्त्र और एमएसडब्ल्यू दोनों शैक्षिक अर्हता रखे जाने की मांग की है। युवाओं ने स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत उक्त मामले में जल्द कार्यवाही करते हुए उक्त विज्ञप्ति में संसोधन करते हुए समाजशास्त्र से पीजी करने वालों को भी शामिल कराये जाने की मांग की है।

     वर्षों बाद प्रदेश के मेडिकल कॉलेज में सोशल वर्कर के पदों के लिए विज्ञप्ति जारी हुई, किंतु उक्त विज्ञप्ति में सोशल वर्कर के लिए शैक्षिक अर्हता मात्र एमएसडब्ल्यू रखी गई, किंतु एमएसडब्ल्यू से पूर्व से चलने वाले कोर्स समाजशास्त्र को दरकिनार किया गया है। समाजशास्त्र से बड़ी संख्या में युवाओं ने पीजी किया है। किंतु सोशल वर्कर की विज्ञप्ति में समाजशास्त्र पीजी समाजशास्त्र को शैक्षिक अर्हता में वरियता नहीं दी गई है। स्थानीय निवासी विजयलक्ष्मी, दीपेन्द्र रावत, मनमोहन सिंह, विकास, दीपक बमराड़ा आदि ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से सोशल वर्कर के पदों में शैक्षिक अर्हता में पीजी समाजशास्त्र को भी वरियता दिये जाने की मांग की है। कहा कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो बड़ी संख्या में समाजशास्त्र से पीजी करने वाले अभ्यर्थी उक्त विज्ञप्ति को नहीं भर पायेगी। उन्होंने प्रदेश सरकार से जल्द उक्त विज्ञप्ति में संसोधन करने की मांग की है।

Share this story