उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

तेज बारिश से बदरीनाथ हाईवे पर तोताघाटी में धंसा, 18 जगहों पर भारी मलबा आने से बाधित
Uttarakhand Herald

नई टिहरी। ऋषिकेश-बदरीनाथ राजमार्ग पर तेज बारिश से जहां तोता घाटी में सडक़ का कई मीटर हिस्सा धंस गया, वहीं करीब 18 जगहों पर भारी बोल्डरों के साथ आये मलबे से स्थिति और बदहाल हो गयी है। राजमार्ग पर पैदल चलना भी लोगों के लिए काफी जोखिम भरा हो गया है। ऋषिकेश बदरीनाथ राजमार्ग शुक्रवार रात हुई बारिश से और बदहाल स्थिति में पहुंच गया। देवप्रयाग से ऋषिकेश तक के 70 किमी क्षेत्र में कई जगहों पर भारी बोल्डरो के साथ आये मलबे से सडक़ पट गयी।

      पुलिस के मुताबिक कौडिय़ाला तक के 30 किमी क्षेत्र में राजमार्ग लगभग 18 जगहों पर भारी मलबा आने से बाधित हुआ है। वहीं तोता घाटी में भारी चट्टानी मलबा आने से सडक़ कई मीटर धंस गयी। मौसम सही रहने पर सडक़ की मरम्मत में तीन दिन से अधिक समय लग सकता है। थाना प्रभारी महिपाल सिह रावत की अगुवाई मे पुलिस टीम ने कई किमी पैदल चल राजमार्ग का जायजा लिया। थाना प्रभारी ने बताया कि ऑल वेदर रोड कटिंग से कई जगहों पर लगातार बोल्डरों के साथ भारी मलबा गिर रहा है।

     राजमार्ग पर पैदल चलना भी काफी जोखिम भरा बन गया है। इसको देखते पुलिस ने लोगों से अनावश्यक राजमार्ग का इस्तेमाल नही करने को कहा है। उन्होंने बताया कि तोता घाटी व अन्य स्थानों पर फंसे वाहनो को बीती शुक्रवार शाम निकाल कर गन्तव्य को भेज दिया गया था। राजमार्ग पर फिलहाल कोई भी वाहन नहीं फंसा है। उधर जिला प्रशासन टिहरी की ओर से तपोवन से मलेथा तक राजमार्ग को वाहनों के लिए बीते रोज से प्रतिबन्धित किये जाने को सभी ने उचित ठहराया है।

   शनिवार को जिस तरह 18 से अधिक स्थानों पर भारी बोल्डरों के साथ मलबा बिखरा मिला, उससे राजमार्ग खुला होने की स्थिति में कई वाहनों के उसकी चपेट में आने की पूरी सम्भावना थी। फिलहाल देवप्रयाग क्षेत्र में ऑल वेदर रोड पर आ रहे लगातार मलबे से आम लोगों में यहां काफी दहशत भी बनी है। देवप्रयाग से गजा खाडी मार्ग जहां बाधित है, वहीं देवप्रयाग से श्रीनगर, पौड़ी, हिंडोलाखाल- नई टिहरी, सतपुली- कोटद्वार आदि मार्ग खुले रहने से लोगों को काफी राहत मिली है।

Share this story