उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

स्कूल आकर परीक्षा देने के लिए बाध्य न किया जाय
Uttarakhand Herald

रुडक़ी।  स्कूल खुलने के बाद छात्र-छात्राओं को स्कूल आकर परीक्षा देने के लिए मजबूर किया जा रहा है। कई स्कूलों की शिकायत मुख्य शिक्षाधिकारी तक पहुंचने के बाद उन्होंने सभी खंड व उप शिक्षाधिकारियों को कार्यवाही के लिए कहा है। कक्षा छह से बारहवीं तक की कक्षाएं पहले से चल रही हैं। स्कूलों को ऑफलाइन और ऑनलाइन पढ़ाने को कहा गया है। छात्रों को स्कूल आने
के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता। अगर वह स्कूल आना चाहते हैं तो ही वह आ सकते हैं। स्कूलों को ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प खुला रखना है। इन दिनों स्कूलों में अद्धवार्षिक परीक्षाएं भी चल रही हैं। ऐसे में परीक्षा देने के लिए छात्रों को स्कूल आने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

      मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ. विद्या शंकर चतुर्वेदी ने जिले के सभी खंड शिक्षाधिकारियों और उप  शिक्षाधिकारियों को पत्र जारी किया है। पत्र में कहा गया कि कई अभिभावकों, जनप्रतिनिधियों के जरिए शिकायत मिल रही है कि कुछ स्कूल छात्र-छात्राओं को विद्यालय आकर ऑफलाइन परीक्षा देने को बाध्य कर रहे हैं। कोविड को देखते हुए सभी सरकारी, निजी स्कूलों को ऑफलाइन और ऑनलाइन पठन-पाठन की अनुमति दी गई है। स्कूल आकर परीक्षा देने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता। ऐसे स्कूलों पर कार्रवाई को कहा गया। 

Share this story