उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए आयोजित किये जा रहे स्वरोजगार शिविर
को स्वरोजगार से जोड़ने

पौड़ी।   जनपद के युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने हेतु शासन के दिशा-निर्देशों के क्रम में जनपद के समस्त विकासखण्डों में स्वरोजगार शिविर आयोजित किये जा रहे हैं। शिविर में विभिन्न विभागीय अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभाग में संचालित स्वरोजगार योजनाओं से संबंधित जानकारी दी जा रही है। इसी के तहत आज विकास खण्ड पाबौं में स्वरोजगार शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें ग्राम्य विकास विभाग, पंचायत, उद्योग, उद्यान, कृषि एवं समाज कल्याण आदि रेखीय विभागों ने रोजगार परक योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी गई।  

को स्वरोजगार से जोड़ने

      शिविर में जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश ने कहा कि जिला प्रशासन के तत्वाधान में मुख्यमंत्री स्वरोजगार शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसमें अधिक से अधिक युवा सरकार की योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं उन्होंने कहा कि रेखीय विभागों की ओर से संचालित की जा रही योजनाओं के लिए सरकार की ओर से ऋण तथा उस पर अनुदान भी मुहैया कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार के जरिए शिक्षित बेरोजगार, रोजगार के 72 बेहतर विकल्प तैयार कर सकते हैं, जिससे वह क्षेत्र के अन्य लोगों को भी रोजगार उपलब्ध करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के बाहर प्राइवेट कंपनियों में कार्य करने वाले लोगों के लिए यह सुनहरा अवसर है, स्वरोजगार के माध्यम से उन्हें काम मिलेगा तथा क्षेत्र का विकास भी होगा।

     शिविर की अध्यक्षता कर रहे ब्लॉक प्रमुख डॉ. रजनी रावत ने कहा कि पाबौ ब्लॉक में काश्तकारों के द्वारा विभिन्न प्रकार की फसलों का उत्पादन किया जा रहा है। साथ ही यहां के लोगों के द्वारा पशुपालन के क्षेत्र में भी उत्कृष्ट कार्य किया जा रहा है उन्होंने सभी रेखीय विभागों से ऐसे प्रगतिशील काश्तकारों और पशुपालकों को विभाग की योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ दिए जाने की पैरवी की। कहा कि विभागों की ओर से ऐसे लोगों के लिए ऋण सरलीकरण करके लाभान्वित किया जाना चाहिए। इस अवसर पर उन्होंने युवाओं से भी स्वरोजगार शिविर का अधिक से अधिक लाभ उठाने का आवाह्न किया। साथ ही ग्रामीण जनप्रतिनिधियों से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का घर-घर प्रचार कर योजनाओं से लाभान्वित होने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से यह बेहतरीन पहल की जा रही है जिसका अधिक से अधिक लोगों को लाभ उठाना चाहिए।

    इस मौके पर बताया गया कि एन०आर०एल०एम० योजना अन्तर्गत 20 स्वयं सहायता समूहों की सी०सी०एल० (कैश क्रेडिट लिमिट) बनवाने हेतु आवेदन जमा किये गए थे, जिसमें 17 स्वयं सहायता समूहों को 17 लाख का सी०सी०एल० सम्बन्धित बैंको द्वारा स्वीकृत किया गया। साथ ही अन्य लोगों के दस्तावेज शिविर में जमा कर उनका वितरण संबंधित बैंक शाखाओं में 10 सितम्बर से कर दिया जाएगा। कहा कि अवशेष तीन समूहों के ऋण संबंधी दस्तावेज संबंधित बैंक शाखाओ में भेजे जाएंगे। इस मौके पर उद्यान विभाग को स्वरोजगार हेतु 04 आवेदन पॉली हॉउस निर्माण हेतु प्राप्त हुए । जबकि उद्योग विभाग को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के 08 आवेदन प्राप्त हुए। वहीं कृषि विभाग के अन्तर्गत कृषि यंत्रों आदि हेतु 05 आवेदन एंव समाज कल्याण विभाग को 32 आवेदन प्राप्त हुए।

        इस मौके पर प्रभारी खण्ड विकास अधिकारी पाबौ प्रवीण भट्ट, ग्रामीण वित्त समन्वयक धनंजय प्रसाद भट्ट, ब्लॉक मिशन प्रबन्धक एन०आर०एल०एम० सुनील राणा, सहायक विकास अधिकारी पंचायत मदन मोहन पहाड़ी आदि उपस्थित रहे।

Share this story