उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

खुद को आग लगाने वाले दुकानदार की दिल्ली अस्पताल में मौत
Uttarakhand Herald

ऋषिकेश। रेलवे रोड अंबेडकर चौक के समीप कास्मेटिक की दुकान चलाने वाले किरायेदार और दुकान मालिक के बीच किराये को लेकर विवाद हुआ था। जिस पर किरायेदार दुकानदार ने अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगा ली थी। इस व्यापारी की शनिवार की देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई।

       वहीं पुलिस ने आरोपित दुकान स्वामी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। बनखंडी ऋषिकेश निवासी बृजपाल ने बीती छह जुलाई को दुकान के बाहर स्वयं पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगा ली थी। जिसे एम्स से देहरादून रेफर किया गया था। बाद में उसकी गंभीर हालत को देखते हुए दिल्ली रेफर कर दिया गया था। घटना के बाद दुकानदार के स्वजन ने पुलिस को शिकायत पत्र दिया था। मगर, मामला दर्ज नहीं हुआ था। दो दिन पूर्व बृजलाल की 12 वर्षीय पुत्री रिया पाल ने कोतवाली पहुंचकर प्रभारी निरीक्षक शिशुपाल ङ्क्षसह नेगी से मुलाकात की थी।

    बताया कि रेलवे रोड पर पिता ने फारुकी से दुकान किराये पर ले रखी थी। दुकान स्वामी को जून माह तक का किराया दे रखा था। इसके बावजूद दुकान मालिक 15000 रुपये और तीन माह का एडवांस किराया मांग रहा था। एडवांस किराया नहीं देने पर दुकान खाली करने के लिए कह रहा था। इससे पिता मानसिक रूप से दबाव में आ गए थे। पांच जुलाई को पिता अपनी दुकान का सामान निकाल ही रहे थे। इस दौरान फारुखी का पुत्र अपने साथियों के साथ पहुंचा और पिता के साथ गाली- गलौज करते हुए पिटाई की और दुकान में ताला जड़ दिया। जिसके बाद पिता बृजपाल ने अपने ऊपर तेल डालकर आग लगा ली थी। जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने दुकान मालिक असीम फारुकी निवासी गंगा विहार ऋषिकेश के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। उधर, दिल्ली अस्पताल में भर्ती दुकानदार बृृृजपाल ने शनिवार की देर रात को दम तोड़ दिया है।

     उधर, कोतवाली पुलिस ने इस मामले में दुकान स्वामी असीम फारुकी पुत्र एमएन फारुकी निवासी गंगा विहार ऋषिकेश को उसके आवास से गिरफ्तार कर लिया है।

Share this story