उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

जिलाधिकारी ने ईज ऑफ डूईंग बिजनेश के अंतर्गत फीड बैंक डाटा सुधार एवं एकल खिड़की व्यवस्था की समीक्षा बैठक की
जिलाधिकारी ने ईज ऑफ डूईंग बिजनेश के अंतर्गत फीड बैंक डाटा सुधार एवं एकल खिड़की व्यवस्था की समीक्षा बैठक की

पौड़ी।  जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में आज ईज ऑफ डूईंग बिजनेश के अंतर्गत फीड बैंक डाटा सुधार एवं एकल खिड़की व्यवस्था अंतर्गत लम्बित प्रकरणों के निस्तारण तथा उद्योग मित्र समिति की समीक्षा बैठक हुई।

       बैठक में सहायक श्रमायुक्त कोटद्वार, क्षेत्रीय अधिकारी उत्तराखण्ड प्रदूशण नियंत्रण बोर्ड पौड़ी, सीटी मिषन मैनेजर शहरी विकास पौड़ी, मत्स्य अधिकारी एवं सहायक निदेषक रेषम पौड़ी के अनुपस्थित रहने पर तथा खादी ग्रामोद्योग विकास अधिकारी पौड़ी द्वारा पीएमईजीपी योजना पर कम प्रगति होने पर स्पश्टीकरण तलब किया। जिलाधिकारी ने कहा कि एकल खिड़की पोर्टल की मदद से जनता को उद्योग से जोड़ने के लिए काम आसान करने का प्रयास किया जा रहा है।

      उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि पोर्टल के माध्यम से किये जाने वाले कार्यों की जानकारी प्राप्त करें तथा महा प्रबंधक जिला उद्योग को सिंगल विन्डो पर कार्य करने की प्रषिक्षण कराने के निर्देष दिये। जिससे अपने औद्योगिक स्वरोजगार करने हेतु लोगों को पोर्टल के माध्यम से जानकारी मिल सकेगी। साथ ही जिलाधिकारी ने उद्योग मित्र समिति की समीक्षा के दौरान सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभिन्न स्वरोजगार के लिए आये आवेदनों को चेक कर तथा समय पर रोजगार देना सुनिश्चित करें, जिससे बेरोजगार लोग समय पर रोजगार कर सकेंगे। वहीं मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत आर्य ने अधिकारियों को अपने विभाग से संबंधित सिंगल विंडो पोर्टल पर कार्य अभ्यास करने के निर्देश दिये।  

      जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. जोगदण्डे ने आयोजित बैठक में संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की संपूर्ण जानकारी पोर्टल में अपलोड करें, जिससे स्वरोजगार इच्छुक व्यक्तियों को विभागों के चक्कर ना काटने पड़ेंगे। उद्योग मित्र समीक्षा बैठक के दौरान विगत बैठक में उद्यमियों की समस्याओं, एमएसएमई नीति, स्वरोजगार योजनाओं की प्रगति, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन सहित अन्य योजनाओं पर विस्तृत चर्चा की गई। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देशित किया कि उद्योग मित्रों की आ रही दिक्कतों को निस्तारण करने हेतु सहायता करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि लंबित प्रकरणों की विभागवार सूची उपलब्ध कराएं, जिसका समय पर निस्तारण किया जा सकेगा। इस दौरान उन्होंने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि कैंप लगाकर लोगों को योजनाओं से लाभविन्त करें। साथ ही उन्होंने कम प्रगति वाले विभागों के प्रति नाराजगी जताते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि योजनाओं में कार्य प्रगति बढ़ाना सुनिश्चित करें। उन्होने रेखीय विभाग के अधिकारियों को कड़ी निर्देष देते हुए कहा कि प्राप्त लक्ष्य को समय पर पूर्ण करना सुनिष्चित करेंगे। साथ ही कहा कि संबंधित बैंकर्स से समन्यवय कर लंबित आवेदनों को षीघ्र निस्तारित कराये। ताकि आवेदकों को समय पर अपने उद्यम स्थापित करने में लाभ मिल सकें।

    जिलाधिकारी ने उद्योग मित्र की गत बैठक में दिये गये निर्देश के क्रम में कार्य प्रगति की जानकारी ली तथा लगभग 18 लाख के ब्याज उपादान प्रकरणों का निस्तारण किया गया। विधुत उपादान के लिए जो आवेदन प्राप्त हुए जिसमें लगभग 21 लाख धनराशि के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई है। साथ ही जनपद में ऐसे प्रकरण जो विद्युत देयक, ब्याज उपदान के तथा जो देर से प्राप्त हुए उन प्रकरणों पर भी चर्चा की गई, जिसमें दो प्रकरणों की स्थिति अस्पष्ट थी जिन्हें अस्वीकृत किया गया जबकि एक प्रकरण में आवेदक को समय दिया गया।
रजनीष कुमार एवं राहुल कष्यप ने सिंगल विन्डो की कार्यो के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

   इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी इला गिरी, उद्योग महाप्रबंधक मृत्युंजय सिंह, मुख्य कोषाधिकारी लखेद्र गोंथियाल, जिला पर्यटन विकास अधिकारी के एस नेगी, सहायक एलडीएम भूपेश नौटियाल, पीएसडब्ल्यू विनोद कुमार उनियाल, ईओ नगर पालिका पौड़ी प्रदीप बिष्ट, ईओ दुगड्डा हर्षवर्धन, सतपुली सुशील बहुगुणा, उद्यान विशेषज्ञ प्रभाकर सिंह, एसीएमओ डॉ ए के तोमर, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ नरेंद्र कुमार सहित अन्य उपस्थित थे।

Share this story