उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

मलबा आने से कोटी-मिनस मोटर मार्ग आठ घंटे रहा बाधित
मलबा आने से कोटी-मिनस मोटर मार्ग आठ घंटे रहा बाधित

विकासनगर। जौनसार-बावर क्षेत्र के हरिपुर कोटी मिनस मोटर मार्ग पर 11 घंटे यातायात ठप रहा। शनिवार तडक़े तीन बजे से सुबह 11 बजे तक मार्ग पर गाडिय़ां फंसी रही। इससे स्थानीय लोगों के साथ राहगीरों को भी दिक्कतें उठानी पड़ी।

        आठ घंटे तक मार्ग बंद रहने से लोगों में लोनिवि के खिलाफ रोष भी देखने को मिला। हरिपुर कोटी मोटर मार्ग पर धमोग मंदिर के समीप आए मलबे ने यातायात बाधित हुआ। इस दौरान जौनसार-बावर सहित हिमाचल प्रदेश की ओर से विकासनगर, देहरादून और सहारनपुर की मंडियों में नगदी फसलें लेकर जा रही गाडिय़ां मार्ग पर फंस गई। इतना ही नहीं, सुबह होते-होते मार्ग के दोनों किनारों वाहनों की लंबी लाइन लग गई। घंटों तक लोग मार्ग के खुलने का इंतजार करते रहे।

   मार्ग पर फंसे किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरें भी साफ दिखाई दी। सहारनपुर मंडी में टमाटर की फसल लेकर जा रहे संतराम और महेश ने बताया कि पूरी रात सफर करने के बावजूद, मार्ग बंद होने से वो समय पर मंडी नहीं पहुंच पायेंगे। जिससे उन्हें अपनी फसलों का उचित दाम नहीं मिल पायेगा। उधर, सुबह तेज धूप और गर्मी के बीच मार्ग पर फंसे राहगीरों में लोनिवि के खिलाफ रोष देखने को मिला।

      राहगीर विवेक, सुनील शर्मा, मोहित तोमर आदि ने बताया कि तडक़े से ही मार्ग पर फंसे लोग फोन के माध्यम से लोनिवि के अधिकारियों और कर्मचारियों को मार्ग बंद होने की सूचना दे रहे थे। लेकिन, करीब साढ़े नौ बजे लोनिवि की जेसीबी मशीन मौके पर पहुंची। जिसने करीब डेढ़ घंटे की बाद मार्ग से मलबा हटाकर यातायात सुचारू कराया। उन्होंने बरसात के मद्देनजर लोनिवि से क्षेत्र के मलबा प्रभावित इलाकों में जेसीबी मशीनें पहले से ही तैनात रखने की मांग भी की है।

      उधर, संपर्क करने पर लोनिवि के ईई डीपी सिंह ने बताया कि मार्ग बंद होने की सूचना मिलते ही जेसीबी भेज दी गई थी।

Share this story