उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

पांच सालों में टिहरी विस में अभूतपूर्व काम किए : विधायक डा. नेगी
herald
भाजपा के टिहरी विधायक डा. धन सिंह नेगी ने दावा किया कि प्रदेश बनने के बाद डब्बल इंजन की सरकार के पांच सालों में टिहरी विस में अभूतपूर्व काम किए हैं। भाजपा के पांच साल व बीते पंद्रह सालों को लेकर यदि तुलना की जाय, तो पूर्व मंत्री के कार्यकाल में विधानसभा में अराजकता और भ्रष्टाचार का माहौल रहा है। वहीं इससे पूर्व दस साल तक विधायक रहे कांग्रेस के नेता ने टिहरी विधानसभा के विकास को चौपट करने का काम किया।

नई टिहरी। भाजपा के टिहरी विधायक डा. धन सिंह नेगी ने दावा किया कि प्रदेश बनने के बाद डब्बल इंजन की सरकार के पांच सालों में टिहरी विस में अभूतपूर्व काम किए हैं। भाजपा के पांच साल व बीते पंद्रह सालों को लेकर यदि तुलना की जाय, तो पूर्व मंत्री के कार्यकाल में विधानसभा में अराजकता और भ्रष्टाचार का माहौल रहा है। वहीं इससे पूर्व दस साल तक विधायक रहे कांग्रेस के नेता ने टिहरी विधानसभा के विकास को चौपट करने का काम किया।

       विधायक डा. नेगी ने शनिवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि भाजपा के बीते पांच साल, विकास को लेकर बेमिसाल रहे हैं। उन्होंने पूर्व विधायकों पर निशाना साधा। जबकि टिहरी के विकास को हमेशा नजरअंदाज किया गया। टिहरी के विकास को भाजपा सरकार ने तेजी से आगे बढ़ाया। टिहरी झील के 1200 करोड़ स्वीकृत किये हैं। जिससे कोटी सहित टिहरी की तस्वीर बदलने का काम किया जा रहा है। देहरादून से टिहरी के लिए 9 हजार करोड़ की सुरंग को स्वीकृति मिल गई है। जिससे टिहरी की देहरादून से दूरी मात्र 35 किमी रह जायेगी और टिहरी पर्यटन मानचित्र पर तेजी से बढ़ेगा। कहा कि 104 गांवों को बीते साढ़ चार सालों में सड़क से जोड़ने काम किया गया है। यह गांव वर्षों से सड़क का इंतजार कर रहे थे। 375 किमी की सड़कों को बनाने का काम किया गया। पीएमजीएसवाई व राज्य सेक्टर से 1500 करोड़ की सड़कों को मंजूरी दिलाने का काम किया गया। 100 करोड़ की लागत से टिहरी विधानसभा के तहत पेयजल योजनाओं को मजबूत करने का काम किया गया है। टिहरी की पंपिंग योजनाओं के लिए जिला प्लान से अब तक 85 करोड़ जारी कर पेयजल सेवा को बेहतर बनाने का काम किया गया है। लंबे समय से विस्थापन की मांग कर रहे 415 परिवारों के लिए धन की व्यवस्था की गई है। मेडिकल कालेज के लिए कुट्ठा में 1200 नाली जमीन देख ली गई है। हाइड्रो इंजीनियरिंग कालेज को एनआईटी में तब्दील करने की कार्यवाही गतिमान है। इस मौके पर पूर्व राज्य मंत्री बेबी असवाल, दुग्ध संघ के अध्यक्ष जगतंबा बेलवाल, भूपेंद्र चौहान, धर्म सिंह रावत, असगर अली, गोपी राम चमोली, उर्मिला राणा, गजेंद्र चौहान आदि मौजूद रहे।

Share this story