उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

सामाजिक-आर्थिक समानता के प्रबल समर्थक थे विनोबा जी: सुरेन्द्र
भूदान आन्दोलन के जनक आचार्य विनोबा भावे की 126वीं जयन्ती पर की श्रद्धांजली अर्पित

कोटद्वार। मान सिंह रावत शशि प्रभा सर्वोदय सेवा ट्रस्ट एवं गढ़वाल सर्वोदय मंडल के संयूक्त तत्वाधान में भूदान आन्दोलन के जनक आचार्य विनोबा भावे की 126वीं जयन्ती पर राजेश्वरी करुणा बोक्साा जनजाति बालिका विद्यालय, हल्दूखाता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

     कार्यक्रम में सर्वप्रथम सर्वोदय सेविक श्रीमती शशि प्रभा रावत, कार्यक्रम अध्यक्ष श्री चक्रधर कमलेश, श्री जर्नादन बुडाकोटी, श्री नेत्र सिंह रावत एवं श्री सुरेन्द्र लाल आर्य द्वारा आचार्य विनोबा भावे के चित्र पर सूती माला पहनाकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजली अर्पित की। तत्पश्चात विद्यालय की शिक्षिकाओं द्वारा स्वागत गान एवं गांधी जी के प्रिय भजन प्रस्तुत किए गए। छात्रों के द्वारा गीत एवं संस्कृत में कविता पाठ किया गया। 

     सर्वोदय सेविक श्रीमती रावत ने विनोबा जी की पदयात्रा एवं भूदान आन्दोलन में उनके साथ बिताए क्षणों पर विस्तार से प्रकाश डाला।

     गढ़वाल सर्वोदय मंडल के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र लाल आर्य ने कहा कि विनोबा जी सामाजिक-आर्थिक समानता के प्रबल समर्थक थे। उनका मानना थ कि जब तक देश में जात-पात, धर्म, सम्प्रदायवाद, भाषावाद का बोलबाला रहेगा तब तक देश सही अर्थों में विकास नहीं कर सकता। भूदान आन्दोलन से प्राप्त एक तिहाई भूमि उन्होंने समाज की मुख्यधारा से अलग-थलग पडे लोगों को बांटी।

      श्री जर्नादन बुडाकोटी ने अपने सम्बोधन में कहा कि गांधी जी, विनोबा जी के बारे में केवल किताबों में पढ़ा है किन्तु उनके रुप में सर्वोदय सेवक स्व. मानसिंह रावत जी को देखा है। उन्होंने कहा कि आज के समय समाज में सर्वोदय विचारों के प्रवाह की आवश्यकता है।

     कार्यक्रम में गणेश तड़ियाल, शुरवीर खेतवाल, प्रधानाध्यापिका मंजु रावत, डा0 गीता रावत शाह, गीता बिष्ट ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर विनय रावत, विजेन्द्र सिंह नेगी, प्रेम सिंह वीर सिंह रावत, विद्यालय के द्विाक्षक, शिक्षिकाएं  एवं अभिभावक उपस्थित रहे।

      कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री चक्रधर कमलेश ने एवं संचालन नेत्र सिंह रावत ने की।


 
 

Share this story