उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

किसानों की महापंचायत हुई शुरू, राकेश टिकैत ने किया बड़े फैसले का ऐलान
किसानों की महापंचायत हुई शुरू, राकेश टिकैत ने किया बड़े फैसले का ऐलान

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में संयुक्त किसान मोर्चा ने मुजफ़्फ़ऱनगर में किसान महापंचायत का आयोजन किया है। यह आयोजन मुजफ्फरनगर के राजकीय इंटर कॉलेज मैदान में हो रहा है। ट्विटर पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने एक बयान में कहा कि, महापंचायत ऐतिहासिक होने जा रही है। राकेश टिकैत ने ट्वीट किया कि, मुजफ्फरनगर में 5 सितंबर की किसान महापंचायत ऐतिहासिक होगी। 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर चलते हैं। आप सभी किसान महापंचायत में आमंत्रित हैं। वहीं एक महिला किसान ने बताया कि, हम यहां 3 क़ानूनों को वापस कराने के लिए इक_ा हुए हैं। क्करू से हमारा अनुराध है कि इस आंदोलन को 9 महीने हो गए हैं इससे और न बढ़ाएं तथा 3 क़ानूनों को वापस लें।

किसानों की महापंचायत हुई शुरू, राकेश टिकैत ने किया बड़े फैसले का ऐलान

किसान महापंचायत से पहले सुरक्षा के कड़े इंतजाम
मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार ने कमर कस ली है। मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अभिषेक यादव ने कहा, हमें 70,000 लोगों की भीड़ की उम्मीद है। सूत्रों के मुताबिक, अर्धसैनिक बलों की दस कंपनियां और 4,000 पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया जा रहा है। इसके अलावा हवाई निगरानी के लिए ड्रोन कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा और 200 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।सरकारी इंटर कॉलेज ग्राउंड के आयोजन स्थल से 4 किलोमीटर के दायरे में 20 से अधिक एलईडी स्क्रीन और माइक्रोफोन लगाए गए हैं। मुजफ्फरनगर और आसपास के इलाकों में पहले से ही 500 से ज्यादा लंगर चल रहे हैं ।

     जानकारी के लिए बता दें कि शामली, मुजफ्फरनगर और बागपत के जिला प्रशासन ने शनिवार रात से सभी शराब की दुकानों को बंद कर दिया है और यह रविवार रात तक जारी रहेगा।     गौरतलब है कि, किसान तीन नए अधिनियमित कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले साल 26 नवंबर से दिल्ली की  विभिन्न सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान नेताओं और केंद्र ने कई दौर की बातचीत की है लेकिन गतिरोध बना हुआ है।

संयुक्त किसान मोर्चा ने 25 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया है
     सिंघू सीमा पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन के बाद, संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने शनिवार को 25 सितंबर को भारत बंद का भी आह्वान किया है। पिछले नौ महीनों से दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान संघ ने एक बयान में कहा कि, सिंघू सीमा पर एसकेएम नेशनल कन्वेंशन ने भारत के सभी राज्यों और जिलों में एसकेएम की संयुक्त समितियां बनाने का फैसला किया है।एसकेएम का राष्ट्रीय अधिवेशन 26-27 अगस्त को दिल्ली के पास सिंघू बॉर्डर पर हुआ था। बयान में कहा गया है कि 22 राज्यों के सैकड़ों संगठनों के 2000 से अधिक प्रतिनिधियों ने इस सम्मेलन में भाग लिया।

Share this story