उत्तराखंड हेराल्ड

Breaking news, Latest news Hindi, Uttarakhand & India

स्कूल खुलते ही मुसीबत, 12 राज्यों में कोरोना की संक्रमण दर बढ़ी
Uttarakhand Herald

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के डेढ़ साल बाद देश में स्कूल खुलना शुरू हो चुके हैं। बच्चे, अभिभावक और शिक्षकों में इसे लेकर खुशी है, लेकिन 12 राज्यों में स्कूल खुलने के बाद से बच्चों में  कोरोना की संक्रमण दर भी बढ़ी है। इनमें से छह राज्य ऐसे हैं जहां संक्रमित बच्चों की संख्या में एक फीसदी से भी अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इसे लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी राज्यों को एक बार फिर सख्त कोविड नियमों का पालन करने के लिए निर्देश जारी किए हैं। साथ ही स्कूलों की निगरानी के लिए जिला प्रशासन को अंतिम चेतावनी देते हुए सख्त कदम उठाने के लिए      कहा गया है। हाल ही में स्वास्थ्य और शिक्षा मंत्रालय ने मिलकर दिशा निर्देश (एसओपी) तैयार किए थे।

      केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार देश के कुछ राज्यों में स्कूल खोले करीब एक महीना बीत चुका है। इनमें पंजाब सबसे ऊपर है क्योंकि वहां सबसे पहले स्कूलों को शुरू किया गया। इसके बाद बिहार में बीते 15 अगस्त के बाद स्कूल शुरू हुए। इस बीच मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ इत्यादि राज्यों में भी बच्चे स्कूल जाने लगे हैं। खासकर पंजाब और बिहार के स्कूलों में कोरोना के मामले पिछले कुछ समय से बढ़े हैं।

      दरअसल कोरोना का असर वयस्कों की भांति बच्चों को भी होता है। आगामी तीसरी लहर और बच्चों को लेकर कयास लगाए जा रहे थे लेकिन विशेषज्ञों ने इन्हें बेबुनियाद माना था। इनका कहना है कि मासूम बच्चों में कोरोना का खतरा कम है क्योंकि इनकी प्रतिरक्षा प्रणाली काफी मजबूत है। इसलिए स्कूल खोले जाने की सलाह दी गई। वहीं मेदांता अस्पताल के प्रमुख डॉ. नरेश त्रेहान सहित कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि स्कूलों को शुरू करने के मामले में फिलहाल इंतजार करना चाहिए क्योंकि अभी तक देश में बच्चों का कोविड-19 टीकाकरण शुरू भी नहीं हुआ है।

Share this story